उष्ण कटिबंधिय वर्षावन



वर्षावन कटाव या अपरदन को कम करते हैं।

वर्षावन के पेड़ों और वनस्पति की जड़ें मिटटी को बांधने में मदद करती हैं। जब पेड़ों को काट दिया जाता है, तो भूमि की सुरक्षा के लिए कुछ नहीं रह जाता है, और वर्षा के साथ मिट्टी का क्षरण होने लगता है। मिट्टी के क्षरण की यह प्रक्रिया अपरदन या कटाव कहलाती है।

यह मिट्टी पानी के साथ बह कर नदियों में चली जाती है और मछलियों व लोगों के लिए समस्या का कारण बनती है। पानी गंदला हो जाने के कारण मछलियों को परेशानी होती है, उथले जलमार्ग से होकर जाने वाले लोगों को भी नाव चलने में समस्या का सामना करना पड़ता है,क्योंकि पानी में धूल की मात्रा के बढ़ जाने के कारण पानी धुंधला हो जाता है। साथ ही किसान शीर्ष मृदा को गवां देते हैं जो फसलों को उगने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।




इस दस्तावेज की प्रिंट या किसी अन्य माध्यम से मुक्त वितरण के लिए सहमति यहां दी गयी है, बताया गया है कि mongabay.com इसका स्रोत है। Mongabay.com का उद्देश्य है वन्य जीवन और वन्य भूमि में रूचि बढ़ाना और पर्यावरण के मुद्दों के बारे में जागरूकता को बढ़ावा देना। जब तक कि अन्यथा विनिर्दिष्ट न हो, साइट पर सभी सामग्री रेट ए. बटलर (Rhett A. Butler) के द्वारा लिखी गयी है।





उष्ण कटिबंधिय वर्षावन | कॉपीराइट और कानून | अंग्रेजी भाषा | तस्वीरें

©2008 Rhett Butler