Articles by Hridayesh Joshi

सुन्दरलाल बहुगुणा: भारतीय पर्यावरणवाद के एक युग का अंत

[श्रद्धांजलि] सुन्दरलाल बहुगुणा: भारतीय पर्यावरणवाद के एक युग का अंत

क्या हैं जंगल के उपकार, मिट्टी, पानी और बयार। मिट्टी, पानी और बयार, जिन्दा रहने के आधार। यह नारा सत्तर के दशक से हिमालय की वादियों में गूंज रहा है।…
सुन्दरलाल बहुगुणा: भारतीय पर्यावरणवाद के एक युग का अंत
उत्तराखंड त्रासदी - चमोली में आए बाढ़ के बाद एनटीपीसी पनबिजली परियोजना को खासा नुकसान हुआ है। तस्वीर- हृदयेश जोशी

उत्तराखंड त्रासदी के बाद हिमालय क्षेत्र में अंधाधुंध विकास की होड़ पर फिर उठने लगे सवाल

उत्तराखंड त्रासदी के तीन दिन बीतने के बाद भी ऋषिगंगा नदी के आसपास अफरातफरी मची हुई है। तीन दिनों से लगातार राहत एवं बचाव कार्य चल रहा है। सैलाब के…
उत्तराखंड त्रासदी - चमोली में आए बाढ़ के बाद एनटीपीसी पनबिजली परियोजना को खासा नुकसान हुआ है। तस्वीर- हृदयेश जोशी