Articles by S. Gopikrishna Warrier

[साक्षात्कार] जयराम रमेशः अर्थशास्त्री से पर्यावरणविद् बनने की यात्रा

भारत के पूर्व पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश से मोंगाबे-इंडिया के मैनेजिंग एडिटर एस गोपीकृष्णा वारियर ने बातचीत की। पेश है इस बातचीत के प्रमुख अंश। मोंगाबेः आज हमारे साथ हैं…
[कॉमेंट्री] उदारीकरण के 30 साल: क्या कोविड-19 की दूसरी लहर भारतीय मध्य वर्ग की दिशा बदलेगी?

[कॉमेंट्री] उदारीकरण के 30 साल: क्या कोविड-19 की दूसरी लहर भारतीय मध्य वर्ग की दिशा बदलेगी?

इक्कसवीं सदी के पहले दशक के मध्य में, मैं हैदराबाद से दूर, पाटनचेरू में मौजूद अंतर्राष्ट्रीय अर्ध-शुष्क उष्णकटिबंधीय फसल अनुसंधान संस्थान के वैश्विक मुख्यालय में कार्यरत था। इस संस्था का…
[कॉमेंट्री] उदारीकरण के 30 साल: क्या कोविड-19 की दूसरी लहर भारतीय मध्य वर्ग की दिशा बदलेगी?

[कमेंट्री] स्वच्छ ऊर्जा का लक्ष्य: सिर्फ मंजिल नहीं रास्तों की भी करनी होगी परवाह

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के पदभार संभालने के बाद, जलवायु परिवर्तन भारत और अमरीका के संबंधों के बीच फिर से एक धुरी बनकर उभर रहा है। चतुर्भुज सुरक्षा संवाद…
राहुल राम

राहुल राम: संगीत और पर्यावरण के मुद्दों के समागम के प्रयास में

नब्बे के दशक के शुरुआती साल में जब देश में आर्थिक सुधारों की शुरुआत हो रही थी, उन्हीं दिनों मुझे नर्मदा घाटी की यात्रा का मौका मिला। नर्मदा बचाओ आंदोलन…
राहुल राम

संपादक की नजर में 2020: वायरस से जुड़ी चिंता के बीच पर्यावरण को लेकर मिले मौके चूक जाने का वर्ष

आधिकारिक तौर पर भारत में कोविड-19 का पहला मामला केरल के थ्रीसुर में जनवरी 2020 में दर्ज किया गया था। अभी दिसंबर 2020 में 90-वर्षीय ब्रिटेन का एक नागरिक इस…
पंजाब और देश के दूसरे हिस्से से दिल्ली आए किसान कुछ इस तरह से सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। फोटो- रणदीप मडोक विकिमीडिया कॉमन्स

कृषि पर बदलते मौसम की मार भी है किसान आंदोलन की एक वजह

मंगलवार को देश भर के किसानों ने भारत-बंद का आह्वान किया था जो कमोबेश सफल बताया जा रहा है। यह बंद पिछले कुछ महीनों से चल रहे किसान आंदोलन का…
पंजाब और देश के दूसरे हिस्से से दिल्ली आए किसान कुछ इस तरह से सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। फोटो- रणदीप मडोक विकिमीडिया कॉमन्स