Articles by Neha Jain

धारीदार लकड़बग्घे की प्रतीकात्मक तस्वीर। तस्वीर- ऋषिकेश देशमुख डीओपी/विकिमीडिया कॉमन्स

जानवरों के शवों को जलाने में आने वाले खर्च को बचाते हैं लकड़बग्घे

वैसे तो गिद्धों को शवों का निपटारा करने वाले जीवों के रूप में जाना जाता है लेकिन एक और ऐसा ही 'सफाईकर्मी' है जिसके योगदान को अक्सर नजरअंदाज कर दिया…
धारीदार लकड़बग्घे की प्रतीकात्मक तस्वीर। तस्वीर- ऋषिकेश देशमुख डीओपी/विकिमीडिया कॉमन्स

जलवायु परिवर्तन से लड़ने में मदद करते भारत के टाइगर रिज़र्व

नए शोध से पता चलता है कि भारत की बाघ संरक्षण नीति ने न केवल बाघों की आबादी को संरक्षित करने और बढ़ाने में मदद की है, बल्कि इसने जंगल…
होराग्लानिस पॉपुली केरल के लैटेरिटिक एक्विफर सिस्टम में पाई जाती हैं। यह मछलियां आकार में छोटी हैं। इनकी आंखें और पिगमेंट नहीं होते हैं। तस्वीर- अर्जुन सी.पी.

[वीडियो] केरल के स्थानीय लोगों ने एक अंधी कैटफ़िश प्रजाति की खोज में कैसे की वैज्ञानिकों की मदद

दक्षिणी भारतीय राज्य केरल के संकीर्ण भूजल एक्विफर के अंदर भूमिगत कैटफ़िश का एक अनूठा समूह रहता है। ये मछलियां पोषक तत्वों और ऑक्सीजन की कम सांद्रता के साथ पूरी…
होराग्लानिस पॉपुली केरल के लैटेरिटिक एक्विफर सिस्टम में पाई जाती हैं। यह मछलियां आकार में छोटी हैं। इनकी आंखें और पिगमेंट नहीं होते हैं। तस्वीर- अर्जुन सी.पी.
ग्लोब स्किमर के पंख। समुद्री जीवविज्ञानी चार्ल्स एंडरसन का कहना है कि ग्लोब स्किमर एक ऐसी उड़ान मशीन है जिसका डिजाइन उच्च कोटि का है। तस्वीर- Harum.koh/विकिमीडिया कॉमन्स

हिंद महासागर के ऊपर बिना रुके सबसे लंबी दूरी तक पलायन करते हैं ड्रैगनफ्लाई पतंगे

समुद्री रास्ते से मालदीव जाने के दौरान जीवविज्ञानी चार्ल्स एंडरसन ने झुंड के झुंड पतंगे देखे। इसे अंग्रेजी में ड्रैगनफ्लाई कहते हैं। ये पतंगे पूर्वी अफ्रीका की ओर उड़ान भर…
ग्लोब स्किमर के पंख। समुद्री जीवविज्ञानी चार्ल्स एंडरसन का कहना है कि ग्लोब स्किमर एक ऐसी उड़ान मशीन है जिसका डिजाइन उच्च कोटि का है। तस्वीर- Harum.koh/विकिमीडिया कॉमन्स
एक बाघिन के पलायन की कहानी, 99 किलोमीटर की यात्रा का बनाया रिकार्ड

[वीडियो] एक बाघिन के पलायन की कहानी, 99 किलोमीटर की यात्रा का बनाया रिकार्ड

हाल ही में एक बाघिन के द्वारा किया गया इतिहास का सबसे लंबा पलायन का मामला सामने आया है। एक 18 महीने की बाघिन, पन्ना टाइगर रिजर्व के अपने इलाके…
एक बाघिन के पलायन की कहानी, 99 किलोमीटर की यात्रा का बनाया रिकार्ड
कतरनियाघाट में रह रहे घड़ियालों के निवास पर हरियाली का छापा

कतरनियाघाट में रह रहे घड़ियालों के निवास पर हरियाली का छापा

उत्तर प्रदेश और नेपाल सीमा से सटे कतरनियाघाट वन्यजीव अभ्यारण्य के समीप से गुजरती गिरवा नदी के बहाव में कमी आयी और इसके किनारे हरियाली उग आई। यूं तो हरियाली…
कतरनियाघाट में रह रहे घड़ियालों के निवास पर हरियाली का छापा
सज्जनगढ़ बायोलाजिकल पार्क, उदयपुर में आराम करता एक मगरमच्छ

पानी में बिना किसी टकराव के कैसे साथ रह लेते हैं घड़ियाल और मगरमच्छ

जब दो बराबर के जीवों का ठिकाना एक ही हो। आमना-सामना होता हो और मौजूदा संसाधनों में दोनों को हिस्सा चाहिए हो तो टकराव होना सामान्य हो जाता है। इस…
सज्जनगढ़ बायोलाजिकल पार्क, उदयपुर में आराम करता एक मगरमच्छ
अरावली के जंगल में कैमरा ट्रैप में कैद हुई तेंदुए की तस्वीर। (बाएं) मांगर बनी का जंगल। (दाएं) तस्वीर- सुनील हर्सना और प्रदीप कृष्ण

दिल्ली-हरियाणा का अरावली जंगल है जैव-विविधतता का केंद्र, संरक्षण की जरूरत

दिल्ली की भागदौड़ भरी जिंदगी और  ट्रैफिक की भीड़भाड़ के बीच जंगल और जंगली जीव की उपस्थिति के बारे में शायद ही कोई सोच सकता है, लेकिन हाल में आए…
अरावली के जंगल में कैमरा ट्रैप में कैद हुई तेंदुए की तस्वीर। (बाएं) मांगर बनी का जंगल। (दाएं) तस्वीर- सुनील हर्सना और प्रदीप कृष्ण
कोडागू स्थित मंदिर के सामने नाग देवता का स्थान फोटो यू. प्रशांत बल्लुलल्या

देश में आस्था के सहारे होता था सांपों का संरक्षण, बदलने लगा है परिदृश्य

धार्मिक स्थल के साथ-साथ पेड़-पौधे और वन भी भारतीय समाज में आस्था के प्रतीक रहे हैं। लोग प्राकृतिक संसाधनों को विभिन्न देवी-देवताओं से जोड़कर पूजते रहे हैं। भारत में पवित्र…
कोडागू स्थित मंदिर के सामने नाग देवता का स्थान फोटो यू. प्रशांत बल्लुलल्या