Articles by Ashvita Anand

पर्पल सनबर्ड का यह घोंसला मानवजनित कचरे का इस्तेमाल करके बनाया गया है। तस्वीर-प्रीति सरयान।

भोपाल में कुछ पक्षी अब कचरे से बना रहे हैं अपने घोंसले

भारतीय विज्ञान शिक्षा एवं अनुसंधान संस्थान (आईआईएसईआर) भोपाल के वैज्ञानिकों की ओर से किए गए एक नए अध्ययन में पक्षियों के घोंसलों के निर्माण में मानवजनित कचरे के प्रभाव की…
पर्पल सनबर्ड का यह घोंसला मानवजनित कचरे का इस्तेमाल करके बनाया गया है। तस्वीर-प्रीति सरयान।
नर हूलॉक गिब्बन। तस्वीर- मिराज हुसैन/विकिमीडिया कॉमन्स 

मेघालय में स्तनपायी जीवों की आबादी पर समुदाय-आधारित संरक्षण प्रयासों का अच्छा असर

एक अध्ययन में पाया गया है कि कम्युनिटी रिजर्व (सीआर) यानी आदिवासी समुदायों द्वारा प्रबंधित संरक्षित क्षेत्र, संरक्षण प्राथमिकताओं और समुदायों की आजीविका की जरूरतों को संतुलित करने के लिए…
नर हूलॉक गिब्बन। तस्वीर- मिराज हुसैन/विकिमीडिया कॉमन्स 
शोधकर्ताओं ने बताया कि मछुआरों को बायकैच छोड़ने के लिए प्रोत्साहित करने का काम ब्राजील में हुआ है। इसे भारत में भी लागू किया जा सकता है। फोटो- त्रिशा गुप्ता 

गंभीर रूप से लुप्तप्राय राइनो रेज़ के संरक्षण में स्थानीय समुदायों की भूमिका

राइनो रेज़ इलास्मोब्रान्ची का एक विशिष्ट और महत्वपूर्ण समूह बनाती हैं। यह कार्टिलाजिनस मछली का एक उपवर्ग है जिसमें रेज़ और शार्क शामिल हैं। हालांकि, राइनो रेज़ के बारे में…
शोधकर्ताओं ने बताया कि मछुआरों को बायकैच छोड़ने के लिए प्रोत्साहित करने का काम ब्राजील में हुआ है। इसे भारत में भी लागू किया जा सकता है। फोटो- त्रिशा गुप्ता 
भारत में बैंडेड करैत की तस्वीर। तस्वीर - डेविडवराजू/विकिमीडिया कॉमन्स। 

बैंडेड करैत की हो सकती है एक से ज्यादा प्रजाति, रिसर्च में आया सामने

हाल ही में हुए एक अध्ययन में पाया गया है कि अत्यधिक विषैला बैंडेड करैत (बुंगारस फासिआटस/ सांप जिसके शरीर पर पट्टियां होती हैं) की पूरे एशिया में अलग-अलग प्रजातियां…
भारत में बैंडेड करैत की तस्वीर। तस्वीर - डेविडवराजू/विकिमीडिया कॉमन्स।